Jul 10, 2013

=> आदिल की हत्या में नामजद हुई प्रेमिका


परिजनों ने लगाया साजिश रचने का आरोप, आरोपी पकड़ से बाहर

त्रिनाथ मिश्र।

मेरठ। आदिल हत्याकांड को 48 घंटे से ज्यादा गुजर गये, लेकिन नामजद आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर है। पुलिस युवती को भी बरामद नहीं कर पाई है, आशंका जताई जा रही है कि उसकी भी हत्या कर दी गई है।  हालांकि उसको भी हत्या की साजिश में नामजद किया गया है।
                लिसाड़ीगेट क्षेत्रा के पफतेहउल्लापुर निवासी नौशाद के पुत्रा आदिल का शव शनिवार को परतापुर थाना क्षेत्रा के चांदसारा मार्ग स्थित गगोल के जंगल में मिला था। परिजनों ने हापुड़ मार्ग स्थित एल. ब्लाॅक चौराहे पर शव को रखकर जाम लगा दिया था और आरोपियों को गिरफ्रतार करने की मांग की थी। परिजनों ने आबिद के मामा अनीस, अजीज, नूर आलम व शाह आलम पुत्रागण अल्लाहमेहर तथा अनस  निवासीगण करीमनगर को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। हत्या के बाद देर शाम आरोपी अनीस ने डीआईजी के समक्ष सरेंडर कर दिया था। आरोप था कि आदिल के पुत्राी पफरहाज से प्रेम-प्रसंग था और उसने दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। तभी उसके मारने की योजना बनाई गयी। पुलिस ने उसे रविवार को उसे जेल भेज दिया था।
                   घटना के 48 घंटे गुजर जाने के बाद पुलिस हत्यारों को गिरफ्रतार नहीं कर पाईं। वहीं पुलिस पफरहाज को भी नहीं बरामद कर पाई है। आशंका जताई जा रही है कि परिजनों ने युवती की भी हत्या कर डाली है। हालांकि परिजनों ने पफरहाज को भी हत्या की साजिश करने में नामजद किया है। परिजनों का आरोप है कि पफरहाज ने ही आदिल को पफोन करके घर बुलवाया था। उध्र परतापुर पुलिस का कहना था कि हत्यारों की गिरफ्रतारी के लिए दबिश दी जा रही है। आरोपी के मकान पर ताला लटका है। पुलिस का कहना था कि युवती को भी जल्द बरामद कर लिया जायेगा।

No comments: